स्प्रिंटर मान कौर का निधन,मोहाली में ली अंतिम सांस

0
57

100 साल की उम्र में भी युवाओं को मात देने वाली मान कौर का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया.वह 105 की थी, मान कौर पिछले 3 महीने से कैंसर से जूझ रही थीं.पंजाब के मोहाली स्थित हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा था. जहां उन्होंने आज अंतिम सांस ली.मान कौर के बेटे गुरदीप सिंह ने शनिवार को इसकी जानकारी दी. तबीयत खराब होने पर मान कौर को पंजाब के शहर मोहाली के शुद्धि आयुर्वेद हास्पिटल में भर्ती कराया गया था.

मान कौर का जन्म एक मार्च 1916 को हुआ था और उन्हें ‘चंडीगढ़ की चमत्कारिक मां’ के रूप में जाना जाता था.कौर ने 93 साल की उम्र में 2007 में चंडीगढ़ मास्टर्स एथलेटिक्स मीट में अपना पहला पदक जीता था. इसके अलावा उन्होने वर्ल्ड मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में कई गोल्ड मेडल जीते हैं. वहीं 2017 में 101 साल की उम्र में वर्ल्ड मास्टर्स गेम्स में कौर ने खिताब भी जीता था. ऑकलैंड में विश्व मास्टर्स खेलों में 100 मीटर की दौड़ जीतकर सुर्खियों में आईं थीं. उनके नाम पर कई रिकार्ड दर्ज हैं.

कौर ने पोलैंड में विश्व मास्टर्स एथलेटिक्स में ट्रैक एवं फील्ड में 4 स्वर्ण पदक जीते थे. महिला सशक्तिकरण में योगदान के लिए मान कौर को 2019 में नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है.मान कौर दौड़ के अलावा भाला फेंक में भी अपना लोहा मनवा चुकी हैं. उन्होंने साल 2018 में स्पेन के मलागा में हुई विश्व मास्टर्स एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 200 मीटर रेस के अलावा भाला फेंक इवेंट में भी गोल्ड मेडल जीता था.

बेटे को गुरु ने पिछले साल पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा था कि वह अन्तरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने के दौरान देखते थे कि विदेशों में महिलाएं ज्यादा उम्र होने के बाद भी फिट रहती हैं. उन्होंने देखा कि 90 की उम्र पार करने के बाद भी उनकी मां भी बहुत फिट थीं इसलिए उन्होंने उन्हें दौड़ने के लिए प्रेरित किया. बेटे की बात मानकर उन्होंने 93 वर्ष की उम्र में अभ्यास शुरू की. चलने से शुरूआत कर उन्होंने धीरे धीरे रफ्तार बढ़ाना शुरू किया और विभिन्न इवेंट्स में अपनी आयु वर्ग में भाग लेने लगीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here