सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट: नया प्रधानमंत्री आवास 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगा , केंद्र ने की डेडलाइन तय

0
30

केंद्र ने इस सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को जरुरी सेवाओं के अंतर्गत रखा गया है. कारण ,कोरोना के चलते देश में लग रहे लॉकडाउन की पाबंदियों के चलते इसका कार्य न रुक सके इस प्रोजेक्ट पर केंद्र सरकार के हरी झंडी दिखाने के बाद नई पकड़ चूका है .

इस प्रोजेक्ट का भाग के तौर पर PM आवास योजना दिसंबर 2022 के आस पास इसका का काम पूरा हो जायेगा कोरोना संक्रमण के बीच पर्यावरण संबंधी प्रोजेक्ट को सारी मंजूरी दे दी गई हैं वही दूसरी हर प्रकार की गतिविधियों पर विराम लगा हुआ है.

अधिकारी कार्यकर्ताओं ,विरोधी दलों का शख्त मना करने के बाद भी सरकार एक निश्चित समयसीमा के अंदर संसद भवन और दूसरे इमारतों को लेकर प्रतिबद्ध दिखाई पड़ रही है.

प्रधानमंत्री मोदी ने 10 दिसंबर को नए संसद भवन का भूमि पूजन किया था साल 2022 के दिसंबरमें सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के अंतर्गत जिन बड़ी इमारतों का निर्माणकार्य पूरा होना है इस प्रोजेक्ट तय की गई समय सीमा के अंदर PM की सुरक्षा में तैनात रहने वाली एसपीजी का मुख्यालय और नौकरशाहों के लिए विशेष गलियारा भी साल 2022 के दिसंबर में पूरा हो जाएगा. उप राष्ट्रपति का भवन अगले साल मई तक पूरा हो जाएगा.

प्रधानमंत्री का मौजूदा आधिकारिक आवास का पता 7, लोक कल्याण मार्ग है, जो पहले रेस कोर्स रोड था.राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक 4 किलोमीटर में फैले सरकारी भवनों और इमारतों के फिर से बनाने और पुनरोद्धार का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट 2024 के आम चुनाव के पहले पूरा किया जाना है.

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में लगने वाली रकम लगभग 13, 450 करोड़ रुपये रखी गई है इसमें काम करने के लिए 46 हजार लोगों को रखा गया है.

सोशल मीडिया पर भी लोग कोरोना के इमरजेंसी के बारे में सोचते हुए इस प्रोजेक्ट के खर्च पर सवाल उठा रहे हैं. उनका कहना है कि जब अस्पतालों, ऑक्सीजन और दवाओं के लिए सरकार को काफी दिक्तो का सामना करना पड़ रहा है उन सभी जरूरी संसाधन एकठा करने के बजाय सरकार प्रोजेक्ट पर पानी की तरह पैसे बहा रही है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here