आपके राशन कार्ड के बारे में बड़ी खबर, अब आपको अपडेट करने के लिए इतने पैसे देने होंगे

0
38

देश के कई राज्यों में राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी सुविधा का लाभ उठाने के लिए बैंक भी चक्कर लगा रहे हैं। उत्तराखंड सरकार ने बैंक के लिए राशन कार्ड में नाम, पता या उम्र में बदलाव के लिए 25 रुपये का मसौदा बनाना अनिवार्य कर दिया है।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार पूरे देश में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को लागू करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। वर्तमान में, यह योजना देश के 26 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की गई है। इस प्रक्रिया में, लोगों को राशन कार्ड को आधार (राशन कार्ड को आधार से जोड़ने) से जोड़ने के लिए कहा जाता है। 30 सितंबर 2020 राशन कार्ड को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख है। अगर आपने 30 सितंबर से पहले राशन कार्ड को आधार से लिंक नहीं कराया, तो आपको आगे समस्या हो सकती है। इसके लिए, देश के कई राज्यों में राशन पोर्टेबिलिटी सुविधा का लाभ उठाने के लिए बैंक भी चक्कर लगा रहे हैं। उत्तराखंड सरकार ने बैंक के लिए राशन कार्ड में नाम, पता या उम्र में बदलाव के लिए 25 रुपये का ड्राफ्ट बनाना अनिवार्य कर दिया है।

कुछ राज्य राशन पोर्टेबिलिटी सुविधा के लिए शुल्क लेंगे

उत्तराखंड सरकार अब उपभोक्ताओं को राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी सुविधा के लिए 10 के बजाय 17 रुपये खर्च करेगी। उत्तराखंड का खाद्य और आपूर्ति विभाग अब केवल बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा प्रदान करेगा। राशन कार्डधारियों ने राशन कार्ड में नाम, पता या उम्र में किसी भी बदलाव के लिए 25 रुपये का मसौदा अनिवार्य कर दिया है।

राज्य बनाना और राशन कार्ड बनाना राज्य का विषय है

बता दें कि राशन कार्ड बनाना राज्य सरकार का विषय है। कई राज्य सरकारें इसके लिए पैसा वसूलती हैं, इसलिए कई राज्य सरकारें अपने नागरिकों को केवल मुफ्त में यह सेवा प्रदान करती हैं। केंद्रीय उपभोक्ता और खाद्य मंत्रालय का कहना है कि राशन कार्ड बनाना एक राज्य का विषय है। कौन सा राज्य धन एकत्र करता है या उसे मुक्त करता है यह राज्य का विषय है। जहां तक ​​राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी सुविधा का सवाल है, राशन कार्ड को आधार से जोड़ना और ईपीओएस (इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल) मशीन के साथ इंटरनेट सेवा देना अनिवार्य है। इसके बिना, आप राशन पोर्टेबिलिटी सुविधा का लाभ नहीं उठा सकते। राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा केवल बीपीएल कार्डधारकों के लिए उपलब्ध है।

देश में 24 करोड़ राशन कार्डधारक हैं

देश में लगभग 24 करोड़ राशन कार्डधारक हैं। राशन कार्ड को आधार से लिंक करने की समय सीमा के लिए अब केवल 6 दिन बचे हैं। बता दें कि अगर राशन कार्ड को आधार से लिंक नहीं किया जाता है, तो आपका नाम राशन कार्ड से काट दिया जाएगा। इसलिए, राशन के बचे हुए राशन कार्डधारकों को अपने राशन कार्ड को 30 सितंबर 2020 तक आधार से लिंक करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here